Passage indexing kya hai । अब होगी website rank

Passage indexing kya hai । Without SEO website rank kariye

Passage indexing kya hai, कैसे काम करता है, नॉर्मल और पैसेज indexing में क्या अंतर है  और इसकी वजह से आपको आपकी वेबसाइट में क्या चेंज करने चाहिए इन सब टॉपिक को आज हम कवर करने वाले है हेल्लो every one मै हूं आपका दोस्त और आप rk techy dost पर आर्टिकल पड़ रहे हैं।

SEO world में Google ने हाल ही में हुए google search 2020 event में passage indexing को लॉन्च किया google ने announce किया की अब वह pages के अंदर के पैराग्राफ को भी index कर रैंक कर सकता हैं। सर्च रिजल्ट में उस पैराग्राफ को भी दिखा सकता है जिसका पूरा पेज भलाई उतना खास न हो इसे ही passage indexing कहा जाता हैं।

 

Passage indexing kya hai

Passage indexing kya hai

Google को अपने अपडेट से सब को चोकाने की आदत सी हो गई है, google अपने यूजर्स के लिए उसे batter or best रिजल्ट प्रोवाइड करनवाने के लिए किसी भी हद तक गुजर सकता हैं। वैसे तो पैसेज indexing जिसे हम paragraph indexing भी कह सकते हैं उसके नुकसान कम फायदे बहुत सारे है।

Google  का सर्च इवेंट 2020 में कहना है कि यदि हमें वेब pages के अंदर के paragraph को सही keywords

Search होने पर अपने यूजर के सामने शो कर सकता हैं।

Paragraph indexing को जाने से पहले हम यह जान लेते हैं कि नॉर्मल indexing  क्या होती है और वह कैसे काम करती है जब भी गूगल बोट किसी web page को विजिट करता है तो वह html, css और बाकी एसेट्स को download कर page को रेंडर और check करता है एक बार render करने के बाद वह आपके पेज के कंटेंट को एनालाइज करता है फिर उसे रैंक देता है।

इस प्रकार किसी कीवर्ड के सर्च होने पर गूगल बोट इंडेक्स किए गए पेज को शो करता है। सभी तो सही चल रहा था तो फिर इस passage indexing को लाने की क्या ज़रूरत थी।

हम आपको बता दें कि गूगल अपने यूजर को best experience  देने के लिए passage indexing को लाया है आखिर कार इसमें नया क्या है तो जब google bot आपके पेज को एनालाइज कर index  करेगा तो बहुत सारे फैक्टर आपके पेज को effect करते है जैसे आपने सही से seo किया है, आपके पेज का एक्सपीरियंस कैसा है, कितने backlink हे, इंटरनल लिंकिंग, आउटबोंड लिंक केसी है और आपके पेज पर फोटो वीडियो कैसे हैं, बाउंस रेट कितना हैं और कोई ब्रोकन लिंक तो नहीं है यह सब कुछ चेक होने के बाद ही google bot आपके पेज की रैंक डिसाइड करता है।

और यदि आपका पेज एकदम unique और search किए गए keywords के लिए बेस्ट है फिर भी गूगल आपके पेज की रैंकिंग अच्छी नहीं देगा क्योंकि आपका पेज seo ऑप्टिमाइज नहीं है उसमें backlink कम है ।

लेकिन दोस्तो passage indexing में इन सभी चीजों का निवारण निकाल दिया है  अब कोई यूजर कोई keywords search करेगा और यदि आपके आर्टिकल के passage में यदि वो information है जो यूजर को चाहिए तो google आपके passage को रैंक करेगा उसे कोई नहीं फर्क पड़ता कि आपके content में बाकी चीज कैसी है।

जहां आपको 3000 हजार का आर्टिकल लिखने की सलाह दी जाती हैं अब वहां केवल एक passage के दम पर आपका पूरा आर्टिकल रैंक हो सकता है।

इसका मतलब यह नहीं है कि आप केवल passage ही लिखना चालू कर दे आपको पुरा आर्टिकल लिखना है बस चेंज इतना करना है कि आपको एक पैराग्राफ में अपने पूरे आर्टिकल को शार्ट में समझाना है और उसने अपना मेन keyword भी आना चाहिए।

इसे यह अच्छा हुआ कि अब keywords के साथ खेल कर अपनी वेबसाइट को रैंक करने वाले लोग का एकाधिकार ख़तम हो जाएगा अब केवल यूजफुल कंटेंट ही रैंक करेगा।

भलाई आप seo specialties ना हो फिर भी आपका आर्टिकल रैंक कर सकता है।

इसे भी पढ़ें– BERT  क्या है

आपको बस कुछ चेंज कर न है जैसे आपको आर्टिकल में पूरे आर्टिकल की शॉर्ट प्रोसेस समझानी है मतलब क्या आपको को संदर्भ देना है ।

दूसरी बात जो आपको ध्यान में रखनी है वह है कि यदि आप किसी क्या है केसे करें कौन हैं आदि जैसे questionable आर्टिकल लिख रहा है तो आपको बुलेट प्वाइंट देने की आवश्यकता है।

हां और एक और बात आपको अपने मोबाइल में अपने text को चेक जरूर कर लेना है कि वह ठीक से रेंडर हो रहा है या नहीं यदि हो रहा है तो अच्छी बात है नहीं तो गूगल उसे डिफेक्ट्स पाएगा और उसे रैंक नहीं करेगा।

हमारे इस आर्टिकल जिसका टाइटल है passage indexing kya hai इस में आपको आपके सवालों एवं नॉलेजेबल इंफॉर्मेशन जरूर मिली होगी और यदि कोई पॉइंट छूट गया है या आपको कोई भी सवाल पूछना है तो कमेंट जरूर कर दीजिएगा हम जल्द से जल्द आपके सवालों को जवाब देने की कोशिश करेंगे। 

For more information– passage indexing

 

धन्यवाद……..

 

1 thought on “Passage indexing kya hai । अब होगी website rank”

Leave a Comment